SUN Planets Effects.

| | 0 Comments

सूर्य - ग्रहो में राजा ! चमकता सितारा सूरज | सूरज एक घर बादल के नीचे |
सूरज गुरु और पिता को कहा गया है | पर खुद शनि का पिता है | रूह और संसार का मालिक बृहस्पति गृह है | दुनिआ और शरीर यानि बुत सब सूर्य का है |
सूरज अपने जिस्म से दूसरो की मदद करने की ताकत का मालिक है | सर्दी गर्मी लाली और खाली जगह हर वक्त मौजूद होना -इसके ज़रूरी पहलू हैं |
सूर्य के बगैर किस्मत एक अँधेरी चीज़ है | और हवा(बृहस्पति) के बगैर सूर्य की गर्मी से भरी हुई किस्मत कुंडली वाले और नज़दीकी साथियों दम घोटने वाली होगी | या ये भी कह सकते है की सूरज के बगैर अँधेरी की ज़िन्दगी है |
सूरज की साड़ी कामयी खुद पैदा करके दौलत और जायदाद होगी, न बृहस्पति की आस रखेगा न शनि की मदद ढूंढेगा | यानी खुद अपने आप घिसायगा और धन दौलत पाएगा |
कुंडली में खानो में सूर्य का असर -:


  • लगन में सूर्य का असर राजे के सामान और दानी खाना 2 का असर |
  • खान 3 में अपनी मेहनत से दौलत मंद होगा |
  • खाना 4 में जोड़ता रेहजायगा पैसे/जायदाद |
  • खाना 5 में औलाद से सुख पाएगा |
  • खाना 6 पैसे की चिंता रहेगी |
  • खान 7 में परिवार में कमी होगी |
  • खाना 8 तपस्वी होगा |
  • खाना 9 में सूर्य जब हो तो जातक अपनी और परिवार बढ़ाये |
  • खाना 10 सेहत और पैसे में तरक्की होगी |
  • खाना 11 में पूरा धर्मी होगा |
  • खाना 12 रात का आराम पूरा पाए |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *